app

A Simple Guide for Hindu Brothers during Religious Festivals

A Simple Guide for Hindu Brothers during Religious Festivals

By Editorial Staff

Every religion including Hinduism and Islam tries to put an end to sedition in its all colors and in its all forms.

Hinduism is full of festivals and celebration over the year, and some of them got global recognition. In many occasions, the religious festivals turn into bloody clashes and riots.
To avoid such sorrowful and sad incidents, we have summarized a guide. If those instructions are propagated amongst the people, it surely will be helpful to save the life of the innocent Indians and to save the integrity and social peace and tranquility of our beloved mother India.
1- In Holi, please, avoid throwing colors on strangers.
2-Avoid throwing colors on the people of other faiths; Jains, Buddhists, Jews, Christians, Muslims or Sikhs.
3-Avoid playing songs loudly, specially, during the night time.
4-Try to avoid passing the procession near the worship places of other religions.
5- Avoid slogans and words that may hurt religious feelings of another group or sect of our country.
6-Some religious practices defy common sense and general opinion, try to avoid such practices and some religious practices spoil the natural resources, like immersing the idols in the tanks, ponds, lakes, rivers and seas, please, try to avoid those practices.
7-Whenever you try to hurt a Dalit or a Muslim or a member of any other community, think that the person is someone’s son or daughter, brother or sister. Think that he might be a breadwinner of his family. Think that he might be a hope of his family. Suppose if you were in his place what will be your feelings?
8- Now, in the era of advanced technologies, your bad actions would be recorded or even might be live and you might be accountable for your doings, so try to keep yourself away from violent actions.
9- The videos of communal violence in India rotate on the internet instantly that spoils the fame and name our beautiful country.
10-India always remained a paradise for the people of different religions and faiths and India had been mother of many world-famous religions like Jainism, Buddhism, Hinduism, Sikhism, etc. so diversity is its identity.
11- When the saddening incidents of the violence are posted on the internet, the tourism of India is hurt and the economy of our country is damaged.
13- It is really, appreciated to seize the opportunities of religious festivals to help the poor, the needy, the orphans, the homeless, and to educate our illiterate and uneducated brothers and sisters. Thus, you can change your beloved country India into a bird of gold again.
14- Suppose, if there is a garden that has different types of flowers, and different types of fragrances, would you like to spoil all of them except one flower. Similarly, India is a garden that has diversity in religion and culture, they are like different flowers and their fragrances, and in fact, and they add more beauty into the beauty of India. Muslims and Hindus are two eyes of India. So, try to save your country for next generations.
15-And you! O Muslim brother! If one of your Hindu brothers threw the color on you, then you should smile to him and do not quarrel with him. Do not you see that your merciful and kind messenger; the Prophet Muhammad (peace be upon him) pardoned his bitterest enemies; rather, he honored them and that we should follow his footsteps especially in such dangerous situation?

(हिंदी अनुवाद)
धार्मिक महोत्सव के दौरान हिंदू भाईयों के लिए मार्गदर्शन

हिंदू धर्म वर्ष भर त्योहारों से भरपूर है, और उनमें से कुछ को वैश्विक मान्यता मिल चुकी है।
परंतु कई अवसरों में, धार्मिक उत्सव खूनी झड़पों और दंगों में बदल जाते हैं। और खूशी की जगह दुख लेलेता है । ऐसी दुखी और दुखद घटनाओं से बचने के लिए, हमने कुछ निर्देशों का सारांश दिया है यदि उन मार्गदर्शन को लोगों के बीच प्रचार किया जाता है तो निश्चित रूप से निर्दोष भारतीयों के जीवन को बचाने और हमारी प्यारी मां भारत की अखंडता और सामाजिक शांति और चैन को बचाने के लिए सहायक होगा।
१- होली में, कृपया, अजनबियों पर रंगों को फेंकने से बचें।
२- अन्य विश्वास और धर्म के लोगों पर रंगों को फेंकने से बचें; जैसे; जैन, बौद्ध, यहूदी, ईसाई, मुस्लिम या सिख।
३-रात के समय ज़ोर से गाने बजाते न रहें, विशेष रूप से।
४- अन्य धर्मों की पूजा स्थलों के पास जुलूस पारित करने से बचने का प्रयास करें। यदि आप दूसरों को दुख देते हैं तो इससे आपका भगवान कभी ख़ुश नहीं होगा।
५- नारे और दुश्मनी वाले शब्दों से बचें जो कि हमारे देश के दूसरे समूह या संप्रदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचा सकते हैं।
६-कुछ धार्मिक प्रथा सामान्य ज्ञान और सामान्य राय से मेल नहीं खाते हैं, ऐसे व्यवहारों से बचने की कोशिश करें। और कुछ धार्मिक प्रथा प्राकृतिक संसाधनों को खराब करती हैं, जैसे टैंकों, तालाबों, झीलों, नदियों और समुद्रों में मूर्तियों को डुबोते हैं, कृपया उन प्रथाओं से बचने की कोशिश करें ।
७- जब भी आप किसी दलित या मुस्लिम या किसी अन्य समुदाय के सदस्य को मारपीट की कोशिश करते हैं, तो यह ज़रूर सोचें कि वह व्यक्ति किसी का बेटा या बेटी, भाई या बहन है। यह सोच लें कि वह अपने परिवार की रोजीरोटी का ज़रीया हो। या यह भी हो सकता है कि वह अपने परिवार की आशा हो। मान लीजिए कि अगर आप उसकी जगह पर होते तो आपकी भावना क्या होती?
८-अब, हम एडवांस्ड टेक्नोलॉजी के युग में हैं, याद रहे कि आपके बुरे कार्यों को रेकोर्ड किया जा सकता है या फिर लाइव हो सकता है और आप अपने कार्यों के लिए तुरन्त जवाबदेह हो सकते हैं, इसलिए हिंसक कृत्यों से दूर रहने का प्रयास करें।
९- भारत में सांप्रदायिक हिंसा के वीडियो तुरन्त इंटरनेट पर घूम जाते हैं और यह हमारे खूबसूरत देश का नाम बदनाम कर देता है।
१०-भारत हमेशा विभिन्न धर्मों और मतों के लोगों के लिए एक स्वर्ग बना रहा है। और भारत कई धर्मों; जैन धर्म, बौद्ध धर्म, हिंदू धर्म, सिख धर्म इत्यादि की जन्मभूमि है। वास्तव में इस देश की विविधता इसकी पहचान है।
११- जब जब हिंसा की दुखी घटनाओं को इंटरनेट पर पोस्ट किया जाता है, तो भारत का टूरिज़्म विभाग को नुकसान पहुँचता है। और हमारे देश की अर्थव्यवस्था क्षतिग्रस्त हो जाती है।
१३- वास्तव में, धार्मिक त्योहारों के अवसरों को उत्कृष्ट लक्ष्यों में उपयोग करना बुध्धिमानी है जैसे: गरीब, जरूरतमंद, अनाथ, बेघर और हमारे अशिक्षित और अनपढ़ भाइयों और बहनों को शिक्षित करने की कोशिश करना। इस प्रकार, आप अपने प्रिय देश भारत को फिर से सोने की एक पक्षी में बदल सकते हैं।
१४ – मान लीजिए, अगर एक बगीचा है जिसमें विभिन्न प्रकार के फूल और विभिन्न प्रकार के सुगंध हैं, तो क्या आप एक फूल को छोड़कर सभी को मसल कर खराब करना चाहेंगे? इसी तरह, भारत एक ऐसा स्वर्ग है जहां धर्म और संस्कृति में विविधता है। वे अलग-अलग फूलों और सुगंध की तरह हैं, और वास्तव में, वे भारत की सुंदरता में चार चाँद लगाते हैं। मुस्लिम और हिंदु भारत की दो आँखें हैं इसलिए, अगली पीढ़ियों के लिए अपने देश को बचा कर रखने की कोशिश करें।
१५- और आप! हे मुस्लिम भाई! अगर आपके एक हिन्दू भाई ने आप पर रंग फेंक दिया, तो आपको गुस्सा से नहीं बल्कि मुस्कुराहट से पेश आना चाहिए और उसके साथ झगड़ा मत कीजिये। क्या आप अपने दयालु और कृपालु दूत पैगंबर मुहम्मद (शांति हो उन पर) को नहीं देखते; जिन्होंने अपने कट्टर दुश्मनों को भी माफ़ कर दिया, बल्कि, उन्होंने तो दुश्मनों को भी सम्मानित किया। याद रखें, मुसलमान भाई! इस तरह के खतरनाक परिस्थितियों में विशेष रूप से अनुसरण करना चाहिए?

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

Leave a Reply